Category: Aam Aadmi Party – AAP

तस्वीर बनाई मैँनेँ रंग कोई और भर गया चेहरे पर काला Joke In English For Whatsapp

तस्वीर बनाई मैँनेँ रंग कोई और भर गया चेहरे पर काला

बालों पर मटमैला पैरों मेँ नीला और हाथोँ मेँ भगवा

मैँ अपनी ही बनाई तस्वीर से डर गया !

Republic Day ❷❻ Jan. Message in Hindi [ images quotes ]

Happy Republic Day Images 2017, Quotes, Wallpapers Wishes SMS Messages Whatsapp Status Speech & Poems
68th Republic Day Images 2017 HD, Quotes, Wishes, SMS Messages Whatsapp Status Speech & Poems

Happy Republic Day 2017 : It is the proud moment for all Indians. We Indians are going to host the Republic Day on 26th January every year. Celebrating the Republic day is a great honor for all Indians. Celebrating the freedom of Nation is the great privilege for everyone. On this beautiful event everyone shares wishes and greetings by remembering the sacrifices of our leaders and their struggle in making the Nation free from the British. This is the festival of India! All Indians can celebrate this occasion of Republic Day with a great harmony.
68th Republic Day 2017 Wallpapers & Indian Flag Photo Pics Free Download For Facebook (FB) :

On the eve of Republic day 2017 the holiday will be declared across the nation. Many of the schools and government associated organizations will declare holiday on the event of republic day. Not only the government organizations, also other private and small scale shops will also be shut of this day. Respecting the sacrifices of our leaders is the minimum tribute we can award. Today we are enjoying the democratic country because of the freedom of many legends. With Indian Independence Day, we got freedom from British and with Republic Day we got the whole freedom along with Constitution of India came into force on 26 January 1950 replacing the Government of India Act (1935) as the governing document of India.


सीनें में ज़ुनू, ऑखों में देंशभक्ति, की चमक रखता हुँ, दुश्मन के साँसें थम जाए, आवाज में वो धमक रखता हुँ..!!
सीनें में ज़ुनू, ऑखों में देंशभक्ति, की चमक रखता हुँ, दुश्मन के साँसें थम जाए, आवाज में वो धमक रखता हुँ..!!

आन देश की शान देश की, देश की हम संतान हैं। तीन रंगों से रंगा तिरंगा, अपनी ये पहचान हैं..!!
आन देश की शान देश की, देश की हम संतान हैं। तीन रंगों से रंगा तिरंगा, अपनी ये पहचान हैं..!!
कुछ नशा तिरंगे की आन का है ! कुछ नशा मातृभूमि की शान का है ! हम लहराएंगे हर जगह ये तिरंगा ! नशा ये हिंदुस्तान की शान का है..!!
कुछ नशा तिरंगे की आन का है ! कुछ नशा मातृभूमि की शान का है ! हम लहराएंगे हर जगह ये तिरंगा ! नशा ये हिंदुस्तान की शान का है..!!
करता हूँ भारत माता से गुजारिश कि तेरी भक्ति के सिवा कोई बंदगी न मिले, हर जनम मिले हिन्दुस्तान की पावन धरा पर या फिर कभी जिंदगी न मिले..!!
करता हूँ भारत माता से गुजारिश कि तेरी भक्ति के सिवा कोई बंदगी न मिले, हर जनम मिले हिन्दुस्तान की पावन धरा पर या फिर कभी जिंदगी न मिले..!!
एक ही मिट्टी में मिलता हैं आतंकी और सिपाही ! लेकिन हर कब्र को जनाजे, पे नाज नहीं होता !!
एक ही मिट्टी में मिलता हैं आतंकी और सिपाही ! लेकिन हर कब्र को जनाजे, पे नाज नहीं होता !!
लौटता हूं तमगा वीरता का लेकर, कभी जान देश पर देता हूं, कभी डरना नहीं मेरे देश के लोगो, मैं पहरा सरहद पर देता हूं,
लौटता हूं तमगा वीरता का लेकर, कभी जान देश पर देता हूं, कभी डरना नहीं मेरे देश के लोगो, मैं पहरा सरहद पर देता हूं,
एक सलाम नही एक पैगाम है वो, भारत माता की आन बान शान है वो ! कह दो सारे जयचंदों से, सीने में भरा हिंदुस्तान है वो !!
एक सलाम नही एक पैगाम है वो, भारत माता की आन बान शान है वो ! कह दो सारे जयचंदों से, सीने में भरा हिंदुस्तान है वो !!
एक सच्चे सैनिक को सैन्य और आध्यात्मिक दोनों ही प्रशिक्षण की ज़रुरत होती है .

[[ Patriotic Status ]] – Chhati Se Laga Lena Bharat Maa

desh bhakti quotes in hindi with images | desh bhakti sher | desh bhakti shayari | poem on nationalism in hindi | desh bhakti quotes in english | desh bhakti quotes in hindi pdf | desh bhakti shayari hindi language | desh bhakti in hindi poem

Ek Sainik Ne Kya Khoob Kaha Hai…
Kisi Gajare Ki Khushbu Ko Mehakta Chhod Aaya Hu,
Meri Nanhi Si Chidiya Ko Chahakta Chhod Aaya Hu,
Mujhe Chhati Se Apni Tu Laga Lena Aye Bharat Maa,
Main Apni Maa Ki Baahon Ko Tarasta Chhod Aaya Hu.
– Jai Hind.

एक सैनिक ने क्या खूब कहा है…
किसी गजरे की खुशबु को महकता छोड़ आया हूँ,
मेरी नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूँ,
मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना ऐ भारत माँ,
मैं अपनी माँ की बाहों को तरसता छोड़ आया हूँ।
जय हिन्द.

Kuchh Haath Se Mere Nikal Gaya,
Woh Palak Jhapak Ke Chhip Gaya,
Fir Laash Bichh Gayi Lakhon Ki,
Sab Palak Jhapak Ke Badal Gaya.

कुछ हाथ से मेरे निकल गया,
वो पलक झपक के छिप गया,
फिर लाश बिछ गयी लाखों की,
सब पलक झपक के बदल गया।

Jab Rishte Raakh Mein Badal Gaye,
Insaniyat Ka Dil Dahal Gaya,
Main Poochh Poochh Ke Haar Gaya,
Kyon Mera Bhaarat Badal Gaya?

जब रिश्ते राख में बदल गए,
इंसानियत का दिल दहल गया,
मैं पूछ पूछ के हार गया,
क्यूँ मेरा भारत बदल गया?

कभी सनम को छोड़ के देख लेना, कभी शहीदों को याद करके देख लेना ! कोई महबूब नहीं है वतन जैसा यारो, देश से कभी इश्क करके देख लेना..!!

99 Independence Day Sms in Hindi

Desh Bhakti Hindi Shayari, New Desh Bhakti Shayari, Deshbhakti Sms, Desh Prem Shayari, Independence Day Sms, Republic Day Sms, Patriotic Sms, Patriotic Shayari in Hindi. Patriotic Status for Facebook and Whatsapp. Read Great Desh Bhakti Shayari Sms Collection in Hindi and English font.

De Salami Iss Tirange Ko,
Jis Se Teri Shaan Hai,
Sar Hamesha Uncha Rakhna Iska,
Jab Tak Tujh Mein Jaan Hai.

Chodo Kal Ki Baatein,
Kal Ki Baat Puraani,
Naye Daur Mein Likhenge,
Mill Kar Nayi Kahaani,
Hum Hindustani.

Na Sar Jhuka Hai Kabhi,
Aur Na Jhukayenge Kabhi,
Jo Apne Dum Pe Jiye,
Sach Mein Zindgi Hai Wahi.

Kaale Gore Ka Bhed Nahin Har Dil Se Hamara Naata Hai,
Kuchh Aur Na Aata Ho Humko Hamein Pyar Nibhana Aata Hai.

Bhai-Chaare Par Shayari, Desh Bhakti Shayari

Main Muslim Hoon,
Tu Hindu Hai, Hain Dono Insaan,
Laa Main Teri Geeta Parh Lun,
Tu Parh Le Quraan,
Apne Toh Dil Mein Hai Dost Bas Ek Hi Armaan,
Ek Thali Mein Khana Khaye Saara Hindustan.

मैं मुस्लिम हूँ,
तू हिन्दू है,
हैं दोनों इंसान,
ला मैं तेरी गीता पढ़ लूँ,
तू पढ ले कुरान,
अपने तो दिल में है दोस्त,
बस एक ही अरमान,
एक थाली में खाना खाये सारा हिन्दुस्तान।

Sanskar Aur Sanskriti Ki Shaan Mile Aise,
Hindu Muslim Aur Hindusthan Mile Aise,
Hum Mil-Jul Kar Rahein Aise Ki,
Mandir Mein Allah Aur Masjid Main Raam Basein Jaise.

संस्कार और संस्कृति की शान मिले ऐसे,
हिन्दू मुस्लिम और हिंदुस्तान मिले ऐसे हम
मिलजुल के रहे ऐसे कि मंदिर में
अल्लाह और मस्जिद में राम बसे जैसे।

वतन-परस्ती (देश-भक्ति) के विषय पर लोकप्रिय शेर-ओ-शायरी

इंसाँ की ख़्वाहिशों की कोई इंतिहा नहीं
दो गज़ ज़मीं भी चाहिए दो गज़ कफ़न के बाद

(इंतिहा = उच्चतम सीमा)

Insaan ki khwaahishon ki koi intiha nahin
Do gaz jameen bhi chaahiye do gaz kafan ke baad

बस इक झिजक है यही हाल-ए-दिल सुनाने में
कि तेरा ज़िक्र भी आएगा इस फ़साने में

Bas ik jhijhak hai yahi haal-e-dil sunaane mein
Ki tera zikr bhi aayega is fasaane mein

गर डूबना ही अपना मुक़द्दर है तो सुनो
डूबेंगे हम ज़रूर मगर नाख़ुदा के साथ

(नाख़ुदा = नाविक, केवट, नाव चलने वाला)

Gar doobana hi apna muqaddar hai to suno
Doobaenge ham jaroor magar nakhuda ke saath

ग़ुर्बत की ठंडी छाँव में याद आई उस की धूप
क़द्र-ए-वतन हुई हमें तर्क-ए-वतन के बाद

(तर्क-ए-वतन = देश छोड़ना)

Gurbat ki thandi chhanv mein yaad aai us ki dhoop
Kadr-e-watan hui hamein tarq-e-watan ke baad

अब जिस तरफ़ से चाहे गुज़र जाए कारवाँ
वीरानियाँ तो सब मिरे दिल में उतर गईं

Ab jis taraf se chaahe gujar jaaye kaaranva
Veeraniyan to sab mire dil mein utar gai

जो इक ख़ुदा नहीं मिलता तो इतना मातम क्यूँ
मुझे खुद अपने कदम का निशाँ नहीं मिलता

Jo ik khuda nahin milata to itna maatam kyun
Mujhe khud apne kadam ka nishaan nahin milta

झुकी झुकी सी नज़र बे-क़रार है कि नहीं
दबा दबा सा सही दिल में प्यार है कि नहीं

Jhuki jhuki si nazar be-qaraar hai ki nahin
Daba daba sa sahi dil mein pyar hai ki nahin

पेड़ के काटने वालों को ये मालूम तो था
जिस्म जल जाएँगे जब सर पे न साया होगा

Ped ke kaatne waalon ko ye maaloom to tha
Jism jal jaayenge jab sar pe na saaya hoga

बेलचे लाओ खोलो ज़मीं की तहें
मैं कहाँ दफ़्न हूँ कुछ पता तो चले

(बेलचे = कुदाल)

Belche laao kholo jameen ki tahein
Main kahan dafan hun kuchh pata to chale

जिस तरह हँस रहा हूँ मैं पी पी के गर्म अश्क
यूँ दूसरा हँसे तो कलेजा निकल पड़े

(अश्क़ = आंसू, Tears)

Jis tarah has rahan hun main pee pee ke garm ashq
Yun dusara hase to kaleza nikal pade

बरस पड़ी थी जो रुख़ से नक़ाब उठाने में
वो चाँदनी है अभी तक मेरे ग़रीब-ख़ाने में

Baras padi thi jo rukh se naqaab uthaane mein
Wo chandani hai abhi tak mere gareeb-khaane mein

बस्ती में अपने हिन्दू मुसलमाँ जो बस गए
इंसाँ की शक्ल देखने को हम तरस गए

Basti mein pane hindu musalmaan jo bas gaye
Insaan ki shql dekhne kom ham taras gaye

बहार आए तो मेरा सलाम कह देना
मुझे तो आज तलब कर लिया है सहरा ने

Bahaar aaye to mera salaam kah dena
Mujhe to aaj talab kar liya hai sehara

मुद्दत के बाद उस ने जो की लुत्फ़ की निगाह
जी ख़ुश तो हो गया मगर आँसू निकल पड़े

Muddat ke baad us ne jo ki lutf ki nigaah
Jo khsh to ho gaya magar aansoo nikal pade

रहें न रिंद ये वाइज़ के बस की बात नहीं
तमाम शहर है दो चार दस की बात नहीं

Rahein na rind ye waaiz ke bas ki baat nahin
Tamaam shehar hai do chaar das ki baat nahin

इसी में इश्क़ की क़िस्मत बदल भी सकती थी
जो वक़्त बीत गया मुझ को आज़माने में

Isi mein ishq ki kismat badal bhi sakti thi
Jo waqt beet gaya mujh ko aazmaane mein

वक्त ने किया क्या हंसी सितम
तुम रहे न तुम, हम रहे न हम

Waqt ne kiya kya haseen sitam
Tum rahe na tum, ham rahe na ham

क्या जाने किसी की प्यास बुझाने किधर गयीं
उस सर पे झूम के जो घटाएँ गुज़र गयीं

Kya jaane kisi ki pyaas bujhane kidhar gayi
Us sar pe jhoom ke jo ghataayen gujar gayi

कोई तो सूद चुकाए, कोई तो जिम्मा ले
उस इंक़िलाब का जो आज तक उधार सा है

Koi to sood chukaaye, koi to jimma le
Us inkilaab ka jo aaj tak udhaar sa hai

मैं ढूंढता हूँ जिसे वह जहाँ नहीं मिलता
नई ज़मीं नया आसमां नहीं मिलता

Main dhoondta hun jise wah wahan nahin milta
Nai jameen naya aasmaan nahin milta